जम्मू-कश्मीर की मुठभेड़: 48 घंटे बाद देश ने खोया अपना एक और वीर

दुखद: जम्मू-कश्मीर में 48 घंटे से चल रही मुठभेड़ में देश का एक और लाल शहीद

जम्मू-कश्मीर। अनंतनाग की सीमावर्ती इलाके में जारी आतंकी विरोधी आपरेशन से संबंधित दु:खद सूचना आ रही है। तीन दिनों से जारी इस मुठभेड़ में हमारे एक और जवान ने वीरता से अपनी जान दी। यह जवान गुरुवार को मुठभेड़ के दौरान घायल हुआ था। अब तक की जानकारी के अनुसार, इस आपरेशन में कुल चार सैन्यकर्मी शहीद हो चुके हैं, और अन्य पांच घायल हैं। सूचना के मुताबिक, इस मुठभेड़ में स्थानीय आतंकी उजैर खान, और दो पाकिस्तान से संबंधित आतंकी शामिल हैं। उजैर खान को अनंतनाग का अखिरी सक्रिय आतंकी माना जा रहा है। भारतीय सेना ने इस साल में अब तक बहुत सारे पाकिस्तान संबंधित आतंकियों को निष्क्रिय किया है।

तीन दिन में चार शहादत

गौरतलब है कि बुधवार को इस मुठभेड़ में राष्ट्रीय राइफल 19 के कमांडिंग आफिसर कर्नल मनप्रीत सिंह, बटालियन कमांडिंग मेजर आशीष धोनैक और जम्मू-कश्मीर पुलिस के DSP हुमायूं भट शहीद हो गए थे। अनंतनाग मुठभेड़ में शहीद मेजर और कर्नल का शव आज दोपहर उनके पैतृक गांव ले जाया जाएगा, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। शहीद कर्नल मनप्रीत सिंह पंजाब के मोहाली जिले में स्थित भड़ौंजिया गांव के रहने वाले हैं। मेजर आशीष धोनैक का परिवार पानीपत के सेक्टर 7 में रहता है, उनका पैतृक गांव बिंझोल है।

आतंकियों को मार गिराने का अभियान तेज

भारतीय सेना ने पूरे इलाके को घेर रखा है। आतंकियों को मार गिराने का अभियान तेज कर दिया गया है। चार किलोमीटर के इलाके को पूरी तरह से सीज कर दिया गया है। इस आपरेशन में 500 से अधिक सैन्यकर्मी लगाए गए हैं। अनंतनाग में चल रही मुठभेड़ में तीन आतंकियों के शामिल होने की आंशका है। एक आतंकी उजैर खान यहां का स्थानीय आतंकी है जब कि दो आतंकी पाकिस्तानी बताए जा रहे हैं। भारतीय सेना से मिल रही जानकारी के अनुसार आतंकी अभी एक करीब 700 मीटर की उंचाई वाली पहाड़ी पर बैठे हुए हैं। यहीं से फायरिंग कर रहे हैं।

Anju Kunwar

Learn More →

Must Read