पहली बार मिलेगा छह खिलाड़ियों को हिमालय पुत्र पुरस्कार, आवेदन के बाद चयन प्रक्रिया शुरू

खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले इन खिलाड़ियों को समय-समय पर देवभूमि उत्तराखंड खेल रत्न पुरस्कार, लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड और खेल प्रशिक्षक को देवभूमि उत्तराखंड द्रोणाचार्य पुरस्कार से हर साल सम्मानित किया जाता है, लेकिन खिलाड़ियों को हिमालय पुत्र पुरस्कार पहली बार मिलने जा रहा है।

 

प्रदेश में, पहली बार हिमालय पुत्र पुरस्कार की घोषणा हुई है, जिसमें छह खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाएगा। इसमें एक दिव्यांग, दो टीम, और तीन व्यक्तिगत स्पर्धा के खिलाड़ियों को यह पुरस्कार दिया जाएगा। खेल विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, पुरस्कार के लिए चयन की प्रक्रिया वर्तमान में प्रगट है।

सभी मानकों को पूरा कर रहे खिलाड़ियों के नामों का सूची शासन को भेजा जाएगा। प्रशासनिक स्तर पर, मंत्री के अनुमोदन के बाद, पुरस्कारों के लिए चयनित खिलाड़ियों के नामों की घोषणा की जाएगी। प्रदेश के खिलाड़ी विभिन्न खेलों में अपने अद्वितीय कौशल का प्रदर्शन कर रहे हैं और देश और दुनिया भर में अपने नाम को रोशन कर रहे हैं।

चयनित खिलाड़ियों और खेल प्रशिक्षक का नाम शासन को भेजा जाएगा

इन खिलाड़ियों, जो खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रहे हैं, को उत्तराखंड में समय-समय पर देवभूमि खेल रत्न पुरस्कार, लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, और खेल प्रशिक्षक के रूप में देवभूमि उत्तराखंड द्रोणाचार्य पुरस्कार से प्रति वर्ष सम्मानित किया जाता है, लेकिन हिमालय पुत्र पुरस्कार पहली बार इन्हें मिलने जा रहा है।

खेल विभाग के अधिकारियों के अनुसार, 16 अक्टूबर तक खेल निदेशालय को कई पुरस्कारों के लिए अनेक आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। खेल निदेशक जितेंद्र कुमार सोनकर बता रहे हैं कि इन आवेदनों की जांच के बाद इसके लिए एक कमेटी की बैठक होगी।

बताया, कमेटी के माध्यम से चयनित खिलाड़ियों और खेल प्रशिक्षक का नाम शासन को भेजा जाएगा। शासन की हाईपावर कमेटी और खेल मंत्री के अनुमोदन के बाद पुरस्कारों के लिए नाम घोषित किए जाएंगे।

इन पुरस्कारों के लिए नाम भी होंगे घोषित

प्रदेश के एक खिलाड़ी को देवभूमि उत्तराखंड खेल रत्न पुरस्कार, एक को लाइफ टाइम अचीवमेंट और एक खेल प्रशिक्षक को देवभूमि उत्तराखंड द्रोणाचार्य पुरस्कार मिलेगा।

Anju Kunwar

Learn More →

Must Read